कोरोनिल को लेकर बाबा रामदेव के समर्थन में उतरा अखाड़ा परिषद

Spread the love

कोरोनिल को कोराना की दवा होने का दावा कर लॉन्च करने के बाद से विवादों में घिरे पतंजलि योगपीठ के संस्थापक और योगगुरु बाबा रामदेव के समर्थन में अब अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद उतर गया है। अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि ने बाबा रामदेव का समर्थन किया है। उन्होंने कहा कि आयुर्वेद अनादि काल से चिकित्सा पद्धति में खुद को साबित करता आया है। ऐसे में अगर कोई दवा बनी है तो उस पर हमे विश्वास करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि पतंजलि योगपीठ की टीम ने रिसर्च करके ही कोरोना की बीमारी से लड़ने के लिए इम्युनिटी बूस्टर दवा कोरोनिल तैयार की है। इसे लेकर जो विवाद खड़ा किया जा रहा है उसके विरोध में पूरा संत समाज बाबा रामदेव के समर्थन में खड़ा है।

इस दवा को लेकर किसी तरह का कोई विवाद खड़ा करना और इसका विरोध करना कतई उचित नहीं हैं। उन्होंने कहा कि देश में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं, लेकिन कोरोना के लिए अब तक वैज्ञानिक और चिकित्सक कोई दवा या वैक्सीन नहीं खोज पाए हैं।

जड़ी बूटियों को मिलाकर आयुर्वेद के फॉर्मूले पर बाबा रामदेव द्वारा तैयार की गई इस दवा के प्रयोग से हमारे शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी और कोरोना के वायरस से लड़ने में शरीर सक्षम होगा। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी स्वावलम्बी होने और स्वदेशी अपनाने पर जोर दे रहे हैं। बाबा रामदेव ने ये कामयाबी अपने कठिन परिश्रम के बल पर हासिल की है। इसलिए बाबा रामदेव का विरोध करने वालों को उनसे सीख लेकर खुद मेहनत कर आगे बढ़ने का प्रयास करना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *