बद्रीनाथ में रात्रि विश्राम भी कर सकेंगे श्रद्धालु

Spread the love

बद्रीनाथ धाम में अभी तक केवल दर्शन की अनुमति प्रशासन ने दी थी। मगर अब वो यात्री और श्रद्धालु, जिन्होंने बद्रीनाथ में  अतिथि गृह के लिए ऑनलाइन बुकिंग रात्रि विश्राम के ही लिए की है, ऐसे यात्री अब इस अतिथि गृह में रात्रि विश्राम कर सकेंगे

यात्रा दर्शन में खुले दो माह से अधिक हो समय हो चुका है, लेकिन कोरोना काल में बदरीनाथ समेत अन्य धामों में श्रद्धालुओं को रात्रि विश्राम की अनुमति नहीं थी। अब बदरीनाथ में दर्शन के लिए यात्री गढ़वाल मंडल विकास निगम के अतिथि गृह में रुक सकेंगे। दर असल व्यवहारिक परेशानी यह हो रही थी कि राज्य के विभिन्न क्षेत्रों से यात्री बदरीनाथ दर्शन की अनुमति के बाद बदरीनाथ पहुंच तो रहे थे पर दर्शन की अनुमति मिलने और रात्रि विश्राम की अनुमति न मिलने से उन यात्रियों को परेशानी हो रही थी। दूर दराज से बदरीनाथ आने वालों को परेशानी हो रही थी। एक दिन में ही दर्शन कर वापस लौटना ऐसे यात्रियों को मुश्किल हो रहा था।

बदरीनाथ में जीएमवीएन होटल देव लोक में 30 कमरे टीआरएच में 8 कमरे 500 बैड, यात्री निवास में 460 बैड में से 210 खोल दिए गए हैं। जबकि 250 बेड रिजर्व में रखे गए हैं। सभी भवनों में भोजन की व्यवस्था पूर्ण रूप से रहेगी। होटल देवलोक के क्षेत्रीय प्रबन्धक जनपद पान सिंह बिष्ट का कहना है कि जिला अधिकारी से वार्ता कर बदरीनाथ में सरकारी भवनों में यात्रियों के रात्रि विश्राम की व्यवस्था करवा दी गई है। सभी भवनों में पूर्ण रूप से व्यवस्था उपलब्ध है। साथ ही ऑनलाइन पेज पर भी बुकिंग खोल दी गई है। श्रद्धालु ऑन लाइन बुकिंग कर रात्रि विश्राम के लिए कक्ष बुक करवा पाएंगे।
जोशीमठ के उप जिला अधिकारी अनिल चन्याल ने बताया कि बदरीनाथ में गढ़वाल मंडल विकास निगम के अतिथि गृह में रात्रि विश्राम के लिए जिन यात्रियों ने ऑनलाइन बुकिंग की है। उन्हें रात्रि विश्राम की अनुमति दी जा रही है। उप जिला अधिकारी ने यह भी बताया कि बदरीनाथ दर्शन अनुमति मिलने के बाद यात्रियो़ं की संख्या में हर दिन वृद्धि हो रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *